अब महामना एक्सप्रेस में ‘चोरी’, पायदान-नल तक ले गए यात्री

0
8

अगली बार जब भी भारतीय रेलवे किसी नई ट्रेन की शुरुआत करेगा तो हो सकता है कि इसमें रेल पैसेंजर्स के लिए कोई मैन्युअल भी साथ आए, जिसमें बताया गया हो कि सरकारी सम्पत्ति का इस्तेमाल कैसे करें। तेजस एक्सप्रेस के बाद, वाराणसी-वड़ोदरा के बीच चलने वाली महामना एक्सप्रेस में भी चोरी की खबर आ रही है। पीएम मोदी ने शुक्रवार को विडियो लिंक के जरिए इस ट्रेन की शुरुआत की थी।

जब महामना एक्सप्रेस अपनी पहली ट्रिप पूरी कर वाराणसी से वड़ोदरा पहुंची तो यार्ड में ट्रेन देखकर अधिकारियों के होश उड़ गए। बताया जा रहा है कि ट्रेन की पहली ट्रिप के बाद ही डिब्बों से 3 नल, 4 शावर जेट और डिब्बों के बीच में लगे 2 पायदान चोरी हो चुके थे। इसके अलावा सीटों और टॉयलट्स की हालत बेहद खराब थी। सीटों पर स्क्रैच और कुछ शीशे लगभग टूटने की स्थिति में थे। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि यह सब किसने किया इस बारे में तो कोई जानकारी नहीं है। लेकिन जिन्होंने भी ऐसा किया है, निश्चित रुप से उन्हें पब्लिक प्रॉपर्टी की कोई कद्र नहीं है।

वेस्टर्न रेलवे के चीफ पीआरओ रवींद्र भाकर ने बताया, ‘हम पैसेंजर्स को आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ लोग डिब्बों से नल और शावर जेट चुरा कर ले गए। डिब्बों की हालत भी काफी खराब थी।’

रेलवे अधिकारी ने बताया, ‘जनरल कोच की हालत बेहद खराब थी। इसने हमें यह सोचने पर भी मजबूर किया कि क्या पैसेंजर ऐसी सुविधाओं के लिए पूरी तरह तैयार हैं।’ भारतीय रेल का चेहरा बदलने की दृष्टि से महामना एक्सप्रेस लॉन्च की गई थी। बीएचयू की स्थापना करने वाले महामना मदन मोहन मालवीय के नाम पर इसे महामना एक्सप्रेस का नाम दिया गया था।

इस ट्रेन में यात्रियों के लिए कई आधुनिक सुविधाएं दी गईं थीं। मॉड्युलर टॉइलट्स, बड़ा शीशा, एग्जोस्ट फैन, एलईडी लाइट, डस्टबिन, डिजाइनर सीट्स और बर्थ, पैसेंजर अड्रेस सिस्टम और जीपीएस बेस्ड पैसेंजर्स इन्फॉर्मेशन सिस्टम जैसी सुविधाएं इस ट्रेन में दी गईं थीं। दिल्ली से वाराणसी चलने वाली पहली महामना एक्सप्रेस ट्रेन को पीएम मोदी ने पिछले साल जनवरी में हरी झंडी दिखाई थी। शुक्रवार को मोदी ने विडियो लिंक के जरिए वड़ोदरा से वाराणसी को चलने वाली ट्रेन की शुरू थी, जबकि रेल मंत्री पीयूष गोयल वड़ोदरा स्टेशन पर मौजूद थे और रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने सूरत स्टेशन पर ट्रेन का स्वागत किया।

बता दें कि इस साल मई में मुंबई और गोवा के बीच शुरू हुई तेजस एक्प्रेस में भी इस तरह का मामला सामने आया था, जब यात्री ट्रेन में लगे हेडफोन तक वहां से ले गए थे। यहां तक कि कुछ एक एलईडी भी चोरी हो गए थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY