इंडो- नेपाल सड़क योजना पर किसानों का हंगामा, की मुआवजे की मांग…

0
286

सिद्धार्थनगर में भारत सरकार के द्वारा मैत्री सम्बन्ध को और मजबूत करने के लिए इसी सीमा परइंडो- नेपाल सड़क योजना का कार्य किया जा रहा है। जिसमें किसानों द्वारा उनके खेतों को सरकार द्वारा खरीद कर उनका उचित मुवावजा देकर इस सड़क को बनाया जा रहा है| लेकिन बार्डर इलाके को प्रगतिशील बनाने के लिए केंद्र सरकार की योजना अब जनपद सिद्धार्थनगर के किसानों के लिए सिर दर्द बन गया है। सड़क मार्ग को बनाने में कई किसानों द्वारा आपत्ति जताई जा रही हैं| शोहरतगढ़ तहसील अंतर्गत ग्राम – करहिया , गुजरौलिया, बगाहवा में जो सड़क बन रही है उसमें किसानों की जमीन बिना रजिस्ट्री के ही विभाग द्वारा ने जबरन मट्टी पटाई का कार्य शुरू करदिया है| जिससे नाराज किसानों का कहना है कि गृहमंत्रालय द्वारा जो मुवावजे का मानक तय किया गया है| उसी रेट से हम सबको मुआवजा मिलना चाहिए और हमारी जमीन का रजिस्ट्रेशन आज के तारीख में होना चाहिए| जो आज का सर्किल रेट है उसी हिसाब से मुआवजा दिया जाना चाहिए। किसान चार गुना मुआवजे पर अड़े हुए हैं, जिससे की इस सड़क योजना के कार्य मे बाधा उत्पन्न हो गया है। इस मामले को लेकर जब अधिकारियों से बात की गई तो उनका कहना है कि बिना रजिस्ट्री के किसी की जमीन पर कोई कार्य नही किया जाएगा। अगर किसी कर्मचारी के द्वारा पैसे की मांग की जाती है, तो सूचना मिलने पर सम्बन्धित के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी और रेट से सम्बंधित मामले में सक्षम अधिकारियों से बात की जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here