स्वास्थ्य विभाग की व्यवस्था कटघरे में,व्हाट्सएप से मरीजों का किया जा रहा इलाज ,लोगों की जिंदगी से खेलते फर्जी ट्रामा सेंटर

0
200

अवैध रूप से जलाये जा रहे फर्जी ट्रामा सेंटर जिनमे  लोगों को इलाज के नाम पर बेवकूफ बनाने का धंधा जोरो से चलाया जा रहा है… टामा सेंटर में बड़े बड़े डॉक्टरों का नाम पर घरेलू महिलाएं इलाज करती है …यहाँ आये मरीजों का इलाज वाट्स एप के जरिए होता है इतना ही नहीं प्राइवेट पैथोलॉजी से मरीजो की महँगी जांच करवाकर रूपये येठने का धंधा जोरो पर जलाया जा रहा है.. जांच रिपोर्ट व्हाट्सएप से दूर दराज बैठे डॉक्टरों को बाकायदा भेजी जातीं हैं…. सारा खेल  प्रशासन की नाक के नीचे होता है लोगों की जिंदगी से किया जा रहा खिलवाड़ जिले के स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन व्यवस्था को कटघरे में लाकर खडा करती है…ये पूरा मामला सीतापुर की तहसील मिश्रिख का है जहां अवैध रूप से सीमा हॉस्पिटल एंड ट्रामा सेंटर चल रहा है जिसमें डॉक्टरों की लिस्ट तो लगी हुई है लेकिन मौके पर कोई डॉक्टर हॉस्पिटल में नहीं है उन्हीं डॉक्टरों का नाम लेकर घरेलू महिला मरीजों का इलाज करती है.. स्टाफ को भी बिना डिग्री के ही रखा गया है … फर्जी हॉस्पिटल में डॉक्टर की कुर्सी पर बैठी महिला सीमा से बात की गई तो बात को गोल मोल घूमाते हुए नजर आयीं…सीएचसी अधीक्षक डा प्रखर श्रीवास्तव से पूछे जाने पर जल्द डाक्टर लिस्ट लेने की बात कहते हुए जिम्मेदारियों से पल्ला झाडते हुए नजर आये…

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here